NFO क्या है? NFO में निवेश करना सही या गलत?

NFO क्या है? NFO में निवेश करना सही या गलत?
NFO क्या है? NFO में निवेश करना सही या गलत?

NFO क्या है? NFO में निवेश करना सही या गलत? – यदि आप निवेश में रुचि रखते होंगे तो NFO (NFO) के बारे में जरूर जानते होंगे। जब भी किसी द्वारा NFO लॉन्च किया जाता है तो उसके बारे में लोगों को तरह-तरह से जानकारी दी जाती है और उसका बढ़-चढ़कर प्रचार किया जाता है। इसके साथ ही साथ NFO की बहुत सारी खूबियां भी बताई जाती हैं और इसे काफी मुनाफा वाला कहा जाता है। बहुत सारे लोगों का यह सवाल होता है कि क्या NFO में म्यूचुअल फंड के मुकाबले अधिक पैसे कमाए जा सकते हैं? इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि NFO क्या है? NFO में निवेश करना सही है या गलत?

Read More – 2021 में निवेश करने के लिए 5 सबसे बेहतरीन म्युचुअल फंड प्लान

आज के समय में यदि आप अपने पूंजी का निवेश करना चाहते हैं तो बेहतर रिटर्न की भी अपेक्षा रखते हैं। भारत में निवेश करने के बहुत सारे विकल्प उपलब्ध हैं इसीलिए कई लोग स्टॉक में निवेश करते हैं तो कई लोग म्युचुअल फंड में। इसी के साथ-साथ कई कंपनियां NFO भी लॉन्च करती है और उसमें निवेश करने के लिए निवेशकों को प्रेरित करती हैं। इसके जरिए वे फंड इकट्ठा करके स्टॉक मार्केट में निवेश करते हैं। NFO में निवेश करने से पहले आपको यह जानना जरूरी है कि NFO क्या है?

NFO क्या है?

जब कोई ऐसेट मैनेजमेंट कंपनी (AMC) कोई नया फंड लॉन्च करती है तो यह सिर्फ कुछ ही दिनों तक निवेश करने के लिए खुला होता है। इसका उद्देश्य फंड पोर्टफोलियो के लिए शेयर खरीदना होता है इसीलिए NFO के जरिए पैसे इकट्ठे किए जाते हैं। जब भी कोई AMC नए फंड की शुरुआत करने के लिए पैसे इकट्ठा करती है तो इस प्रक्रिया को NFO कहा जाता है।

बहुत सारे लोग यह सोचते हैं कि यह IPO जैसा होता है लेकिन ऐसा नहीं है। वर्तमान नियमों के अनुसार NFO की अवधि 3 दिनों से लेकर 15 दिनों तक की होती है। यदि यह फंड open-ended है तो कुछ दिनों बाद इसमें निवेश करने की सुविधा उपलब्ध हो जाती है। लेकिन यह फंड क्लोज एंडेड है तो इसमें निश्चित अवधि के दौरान ही निवेश किया जा सकता है। यदि आप म्यूचुअल फंड में निवेश करना पसंद करते हैं तो बहुत सारे जानकार NFO में निवेश करने से रोकते हैं।

NFO में निवेश करना सही है या गलत?

बहुत सारे जानकार म्यूच्यूअल फंड के मुकाबले NFO में निवेश करने की सलाह नहीं देते हैं इसकी बहुत सारी वजह है जिसके बारे में हम आपको नीचे बताने जा रहे हैं।

NFO का कोई ट्रैक रिकॉर्ड नहीं होता है इसीलिए निवेशक इसके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त नहीं कर सकते हैं। बहुत सारे लोग फंड हाउस के पिछले परफॉर्मेंस को ध्यान में रखते हुए NFO में निवेश करने की रणनीति अपनाते हैं लेकिन यह सही नहीं होता है। क्योंकि आपको यह पता नहीं होगा कि यह फंड आगे चलकर लाभ दिला सकता है या नहीं। इसीलिए हमेशा मजबूत ट्रैक रिकॉर्ड वाले फंड में निवेश करना चाहिए ताकि नुकसान से बच सकें।

NFO और IPO एक दूसरे से भिन्न हैं

कहा जाए तो NFO; IPO की तरह ही लगता है लेकिन यह एक दूसरे से भिन्न है। बहुत सारे लोगों को यह लगता है कि यहIPO की तरह ही होता है जिसमें शेयरों की मांग बढ़ने पर लाभ प्राप्त होगा। लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है दरअसल म्यूच्यूअल फंड के एनवी पर मांग और पूर्ति का नियम लागू नहीं होता है। दरअसल यह तय नहीं होता है कि किस म्यूचुअल फंड में कितने यूनिट्स होंगे। जरूरत के अनुसार नए यूनिट्स को बना लिया जाता है।

NFO की लागत अधिक होती है

यदि आप NFO में निवेश करते हैं तो इसकी लागत काफी अधिक होती है। दरअसल हर फंड का एक Expense Ratio होता है। यदि किसी फंड का एक्सपेंस रेशियो अधिक है तो इसका मतलब यह है कि उस फंड को मैनेज करने के लिए अधिक पैसे का भुगतान करना पड़ेगा इससे आपके रिटर्न पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। भारत में नियमों के मुताबिक छोटे एसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) अधिक एक्सपेंस चार्ज लेते हैं। जब भी कोई NFO लांच होता है तो अक्सर इसका AUM छोटा होता है इसीलिए इसमें एक्सपेंस चार्ज अधिक लगता है। इसीलिए NFO में निवेश करना अच्छा विकल्प नहीं होता है।

NFO को लांच करने का समय निवेश के सही समय के अनुसार नहीं होता है

दरअसल NFO कभी भी लांच किए जा सकते हैं और जरूरी नहीं है कि जिस समय यह लांच हुआ है वह निवेश के लिए अच्छा समय है। दरअसल ऐसेट मैनेजमेंट कंपनी (AMC) अपने प्रोडक्ट बास्केट को बढ़ाने के लिए या पूरा करने के लिए NFO लांच करते हैं। इसीलिए हर समय NFO में निवेश करना सही रणनीति के अंतर्गत नहीं आता है।

निष्कर्ष

यदि निष्कर्ष के तौर पर यह कहा जाए तो NFO में निवेश करने में जोखिम काफी अधिक होता है क्योंकि हमें यह पता नहीं होता है कि आगे चलकर इस फंड की मांग बढ़ेगी या नहीं। यदि इस फंड की मांग बढ़ती है तो आपको अधिक फायदा होगा और यदि मांग कम रहती है तो आपको नुकसान सहना पड़ जाएगा।

इसीलिए NFO में निवेश करने के बजाय ऐसे फंड में निवेश करें जिसका पिछला प्रदर्शन अच्छा हो और ट्रैक रिकॉर्ड भी अच्छा हो। इसके अलावा यदि आप NFO में निवेश करना चाहते हैं तो सबसे पहले यह देखें कि आपके पोर्टफोलियो के हिसाब से यह फिट बैठ रहा है या नहीं इसके बाद थोड़ा इंतजार करके इसके प्रदर्शन पर नजर रखें।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*